कोरोना टेस्‍ट निगेटिव होने के बाद अभिषेक बच्‍चन पहुंचे घर

Spread the love

मुंबई के नानावटी अस्‍पताल में 29 दिन भर्ती रहे बॉलीवुड एक्‍टर अभिषेक बच्‍चन को डिस्‍जार्च कर दिया गया है

बॉलीवुड एक्‍टर अभिषेक बच्‍चन को कोरोना वायरस संक्रमण से शनिवार को मुक्ति मिल गई है. मुंबई के नानावटी अस्‍पताल में भर्ती रहे अभिषेक बच्‍चन को 29 दिन बाद डिस्‍चार्ज कर दिया गया है. वहीं, पिता अमिताभ बच्‍चन ने रिट्वीट करते हुए कहा, मैं बहुत ही सम्मानित महसूस कर रहा हूँ .. मेरा प्यार और स्नेह. अमिताभ ने अभिषेक को रिट्वीट करते हुए लिखा- welcome home Bhaiyu .. GOD IS GREAT

अपने कोरोना टेस्‍ट की निगेटिव रिपोर्ट की जानकारी ट्वीट पर देते हुए अभिषेक बच्‍चन ने कहा है कि एक वादा, वादा ही होता है. आज दोपहर मैंने कोविड -19 NEGATIVE का निगेटिव आया है !!! मैंने आप लोगों को बताया था कि मैं हराया दूंगा. ट्वीट में अभिषेक ने लिखा है कि आप सभी को मेरी और मेरे परिवार के लिए की गई प्रार्थनाओं के लिए धन्यवाद. नानावती अस्पताल में उन सभी डॉक्टरों और नर्सिंग स्टाफ के प्रति मेरा शाश्वत आभार जो उन्होंने किया है. धन्यवाद!

ये है अभिषेक बच्‍चन का ट्वीट
एक प्रॉमिस एक प्रॉमिस है

आज दोपहर मैंने कोविड -19 NEGATIVE का निगेटिव आया है !!! मैंने आप लोगों को बताया था कि मैं हराया दूंगा. आप सभी को मेरी और मेरे परिवार के लिए की गई प्रार्थनाओं के लिए धन्यवाद. नानावती अस्पताल में उन सभी डॉक्टरों और नर्सिंग स्टाफ के प्रति मेरा शाश्वत आभार जो उन्होंने किया है. धन्यवाद!

पिता अमिताभ बच्‍चन ने अभिषेक को रिट्वीट करते हुए लिखा- welcome home Bhaiyu .. GOD IS GREAT

बता दें कि कोरोना संक्रमण की पुष्टि होने पर 11 जुलाई को बेटे अभिषेक बच्चन के साथ 77 वर्षीय अमिताभ को नानावती अस्पताल में भर्ती कराया गया था. अभिषेक की पत्नी ऐश्वर्या राय बच्चन (46) और उनकी आठ साल की बेटी आराध्या को संक्रमण मुक्त होने के बाद पहले ही को अस्पताल से छुट्टी मिल गई थी.

2 अगस्‍त को अमिताभ बच्चन को मिली थी अस्‍पताल छुट्टी

अमिताभ बच्चन ने बीते 2 अगस्‍त रविवार को कहा था कि वह कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्त हो गए हैं और अब वह घर पर पृथक-वास में रहेंगे. उन्होंने शुभचिंतकों की ओर से लगातार मिले समर्थन तथा प्रार्थनाओं के लिए आभार जताया था. उन्होंने ट्विटर पर लिखा था, जांच में मैं कोविड-19 से मुक्त पाया गया हूं. अस्पताल से छुट्टी मिल गई है. घर पर एकांत पृथक-वास में हूं. ईश्वर की कृपा, मां-बाबूजी के आशीर्वाद, प्रियजनों तथा मित्रों की प्रार्थनाओं, दुआओं तथा नानावती अस्पताल में मिलने वाली उत्कृष्ट देखभाल और सेवा से मैं यह देख सका.”

%d bloggers like this: