बिहार में बाढ़ और बिजली ग‍िरने से 24 घंटे के अंदर 60 लोगों की मौत

Spread the love

बिहार में मॉनसून के दौरान बिजली गिरने से लगातार मौतें हो रही हैं। 19 जुलाई को बिजली गिरने से नवादा में सात बच्चों और एक जवान की मौत हो गई थी। यहां पर एक दर्जन से अधिक लोग हादसे में घायल हो गए थे।

बिहार में बाढ़ और बिजली से स्थिति हुई विकराल
24 घंटे के अंदर बिजली गिरने से 43 और बाढ़ के कारण हुई 17 की मौत
बिहार में बाढ़ से मरने वालों का आंकड़ा पहुंचा 123
सबसे ज्यादा मौत जमुई जिले में हुई, जहां आठ लोग मारे गए हैं
बिजली की चपेट में आकर मरने वालों को चार-चार लाख रुपये मुआवजे का ऐलान


पटना भीषण बाढ़ से जूझ रहे बिहार में अब स्‍थानीय लोगों को आकाशीय बिजली से जूझना पड़ा रहा है। बीते 24 घंटे के अंदर राज्‍य में 43 लोगों की आकाशीय बिजली की चपेट में आकर मौत हो गई। मरने वालों में अधिकांश किसान हैं जो अपने खेतों में काम कर रहे थे। उधर, बिहार में बाढ़ का कहर अभी भी जारी है। राज्‍य में पिछले 24 घंटे में 17 और लोगों की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि नेपाल में भारी बारिश होने से वहां से पानी के आने का सिलसिला अभी जारी है। बिहार में बाढ़ से मरने वालों की कुल संख्‍या 123 पहुंच गई है।

सभी कॉमेंट्स देखैंअपना कॉमेंट लिखेंबिहार में मंगलवार से 43 मौतें हुईं हैं। राज्‍य में अकेले जमुई जिले में 8 लोगों मारे गए हैं। भागलपुर, बांका और पूर्वी चंपारण जिलों में 4 मौतें हुईं हैं। जमुई जिले के डीएम धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि पीड़ितों के परिवारों के लिए 4 लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की गई है।

झारखंड में संथाल परगना के दुमका और जामताड़ा जिलों में 12 लोग बिजली गिरने की चपेट में आने से मारे गए। एक अधिकारी ने बताया कि रामगढ़ में लड़कों का एक समूह मैदान में क्रिकेट खेल रहा था। उसी दौरान बिजली गिरी और इस घटना में दो लड़कों की मौत हो गई।

बता दें कि बिहार में मॉनसून के दौरान बिजली गिरने से लगातार मौतें हो रही हैं। 19 जुलाई को बिजली गिरने से नवादा में 7 बच्चों और 1 जवान की मौत हो गई थी। यहां पर एक दर्जन से अधिक लोग हादसे में घायल हो गए थे। 26 जून को राज्य के विभिन्न हिस्सों में बिजली गिरने से 12 लोगों की मौत हो गई थी।

%d bloggers like this: