google.com, pub-3648227561776337, DIRECT, f08c47fec0942fa0

चतुर्थ पेफी राष्ट्रीय पुरस्कार 25 सितंबर को दिल्ली में।

Spread the love

चतुर्थ पेफी राष्ट्रीय पुरूस्कार 25 सितम्बर को दिल्ली में
अहिंसा विश्व भारती के संस्थापक आचार्य लोकेश मुनि जी ने किया ब्रोशर का अनावरण
शारीरिक शिक्षा एवं खेलकूद के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले शारीरिक शिक्षकों और खेलकूद के प्रशिक्षकों को सम्मानित करने के लिए चतुर्थ राष्ट्रीय पेफी पुरस्कार 25 सितंबर 2019 को दिल्ली के प्रगति मैदान में दिए जायेंगे.


पेफी नेशनल अवॉर्ड के ब्रोशर का अनावरण आज अहिंसा विश्व भारती के संस्थापक आचार्य लोकेश मुनि जी ने करते हुए कहा की फिजिकल एजुकेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया (पेफी) के द्वारा इस तरह का आयोजन एक सराहनीय प्रयास है, शारीरिक शिक्षक किसी भी स्कूल के सफल संचालन के लिए रीड की हड्डी की तरह काम करता है और इन शिक्षकों को सम्मानित करना एक बहुत ही परोपकार का काम है.


इस अवसर पर पेफी के राष्ट्रीय सचिव डॉक्टर पीयूष जैन ने बताया की देश में शारीरिक शिक्षकों और खेलकूद के प्रशिक्षकों को सम्मानित करने के लिए फिजिकल एजुकेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया (पेफी) ने वर्ष 2016 में इस अवार्ड की स्थापना की थी तथा विगत लगातार 3 वर्षों से यह अवार्ड शारीरिक शिक्षा एवं खेलकूद के क्षेत्र में अच्छा काम करने वाले लोगों को दिया जा रहा है इस वर्ष यह अवॉर्ड 25 सितंबर 2019 को प्रगति मैदान में आयोजित होने वाले आठवें स्पोर्ट्स इंडिया कार्यक्रम के साथ दिए जाएंगे.


चतुर्थ पेफी नेशनल अवॉर्ड के लिए फिजिकल एजुकेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया (पेफी) ने पूरे देश भर से आवेदन आमंत्रित किए गए हैं जिसकी अंतिम तिथि 30 अगस्त 2019 है यह अवार्ड शारीरिक शिक्षा के क्षेत्र के विशिष्ट शिक्षकों के नाम पर दिए जाते हैं जिसमें प्रमुख रूप से डॉ. अजमेर सिंह अवॉर्ड, डॉ. पी एम जोसफ अवॉर्ड, डॉ. जी पी गौतम अवार्ड, डॉ. एम रोबसन अवॉर्ड एवं कोमल एंड वी के पाहुजा अवार्ड है.


इस बार यह अवॉर्ड बेस्ट शारीरिक शिक्षक, बेस्ट कोच बेस्ट रिसर्चर, लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड शारीरिक शिक्षा और खेलकूद के क्षेत्र में दिए जाएंगे. संस्थान श्रेणी में बेस्ट स्कूल, महाविद्यालय और विश्वविद्यालय को अवार्ड दिए जायेंगे.
पेफी नेशनल अवार्ड कमेटी के आयोजन सचिव डॉ. चेतन कुमार ने बताया के देश में शारीरिक शिक्षा और खेलकूद के क्षेत्र में फिजिकल एजुकेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया विगत 11 वर्षों से देश में शारीरिक शिक्षा और खेलकूद को बढ़ावा देने का कार्य कर रही है

इस अवॉर्ड के चुनाव के लिए लक्ष्मीबाई राष्ट्रीय शारीरिक शिक्षा संस्थान के पूर्व निदेशक डॉक्टर ए के उप्पल की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया गया है जिसमें द्रोणाचार्य अवॉर्डी डॉ ए के बंसल, अर्जुन अवॉर्डी श्री यशपाल सोलंकी, भारतीय विश्वविद्यालय संघ के पूर्व संयुक्त सचिव (खेल) डॉ गुरदीप सिंह, UNI के खेल पत्रकार राजेश राय, राम मनोहर लोहिया हॉस्पिटल के प्रोफेसर डॉक्टर शैलेश कुमार, दिल्ली यूनिवर्सिटी से डॉ मीरा सूद एवं मीनाक्षी पाहुजा और बिमटेक ग्रेटर नोएडा से डॉक्टर अवधेश कुमार श्रोतिय है.

%d bloggers like this: