महज 21 वर्ष की उम्र में कमलसिंह राज चुने गए थे प्रथम बार सरपंच

Spread the love

पढ़ाई के दौरान महज 21 वर्ष की उम्र में कमलसिंह राज चुने गए थे प्रथम बार सरपंच,बीते संपन्न त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में लगातार चौथी जीत

कोरबा(पाली):- जिले के पाली विकासखंड अंतर्गत बीहड़ वनांचल एवं अंतिम छोर पर बसे ग्राम पंचायत कोडार जहाँ बीते संपन्न त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में कमलसिंह राज लगातार चौथे बार सरपंच चुने गए।जो महज 21 वर्ष की आयु में पढ़ाई के दौरान प्रथम बार सरपंच पद प्रत्याशी के रूप में ग्राम पंचायत कर्रा नावापारा से चुनाव मैदान में उतरे थे और ग्राम की जनता ने कमलसिंह पर विश्वास जता अपना सरपंच चुना।

जहाँ इनके द्वारा जनता एवं पंचों के बीच सामंजस्य बनाकर मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति एवं कराए गए विकासकार्यों तथा पंचायत का बेहतर संचालन को लेकर जनता ने दोबारा अपना सरपंच चुना।इस दो पंचवर्षीय कार्यकाल के दौरान कोडार ग्राम पंचायत कर्रा नावापारा में समाहित था।इस दौरान लगभग 2000 मतदाताओं की संख्या थी।जहाँ वर्ष 2015 में विलग होकर कोडार नए ग्राम पंचायत के अस्तित्व में आया।जहाँ तीसरे कार्यकाल एवं बीते पंचायत चुनाव में लगातार चौथे बार सरपंच निर्वाचित हुए है।

कोडार की वर्तमान जनसंख्या 1828 एवं मतदाता संख्या 1147 है।सरपंच कमलसिंह के सफलतम बीते इन तीन पंचवर्षीय कार्यकाल में कुशल कार्यक्षमता से अबतक पुल-पुलिया,गली काँक्रीटिंग,भवन निर्माण,तालाब निर्माण,गहरीकरण कार्य के साथ ग्रामीणों को स्वच्छ पेयजल की उपलब्धता एवं स्वच्छता की दिशा में लगभग 11 करोड़ के विकासकार्य कराए जा चुके है।जिसमे करीब 4 करोड़ के रोजगार मूलक कार्य कराकर ग्रामीण मजदूरों को रोजगार मुहैया कराया गया।

कृषक पुत्र एवं सरल-सहज,सहयोगात्मक विचारों वाले कमलसिंह राज ग्राम पंचायत का संचालन एवं योजनाओं का सफल क्रियान्वयन के साथ-साथ अपनी पढ़ाई भी जारी रखें और वर्ष 2009 में एमए की पढ़ाई पूर्ण किये।वर्तमान संपन्न पंचायत चुनाव में इनके सामने 5 प्रतिद्वंदी सरपंच प्रत्याशी बतौर चुनाव मैदान में खड़े थे लेकिन ग्राम की जनता का बहुमत पुनः कमलसिंह के पक्ष में गया।और वर्तमान जीत के साथ अपने कार्यकाल के लगातार चौथी जीत हासिल किये है।

इस संबंध पर सरपंच कमलसिंह राज ने चर्चा के दौरान बताया कि ग्राम की जनता के मूलभूत आवश्यकताओं की समय पर पूर्ति एवं योजनाओं का जरूरतमंदों को लाभ के साथ पूरे पंचायत में तमाम सुविधाएं मुहैया कराने के साथ-साथ कोडार ग्राम पंचायत को जिले भर में एक अलग पहचान मिले इसके लिए प्रयासरत हूँ।

%d bloggers like this: