👉रोजगार के मुद्दे पर शिवसेना ने पीएम मोदी👤 को घेरा, कहा🗣- ‘आपने नौकरियां खत्म कर दीं’

    0
    2


    महाराष्ट्र और केंद्र सरकार में बीजेपी की सहयोगी शिवसेना ने एक बार फिर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाने पर लिया है। मुखपत्र ‘सामना’ में शिवसेना ने रोजगार के मुद्दे पर पीएम मोदी पर हमला किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले सप्ताह इंटरव्यू के दौरान रोजगार निर्माण का जो दावा किया था उसे खोखला साबित करने वाली जानकारी सामने आई है। प्रधानमंत्री ने इंटरव्यू के दौरान संगठित क्षेत्र में 70 लाख रोजगार निर्माण होने की बात कही थी। असंगठित क्षेत्र में भी बड़े पैमाने पर किस तरह रोजगार का निर्माण हुआ इसका प्रमाण उन्होंने दिया था. अब ‘सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी’ (सीएमआईई) नामक संस्था की रिपोर्ट में प्रधानमंत्री के दावों के विपरीत जानकारी सामने आई है।

    ‘बीते वर्ष में देश के एक करोड़ 9 लाख मजदूरों को अपना रोजगार गंवाना पड़ा है। उसका सर्वाधिक खामियाजा ग्रामीण क्षेत्रों को भुगतना पड़ा है। नौकरी गंवाने वालों में महिलाओं की संख्या थोड़ी-बहुत नहीं बल्कि 65 लाख है।’ ऐसा सीएमआईई की रिपोर्ट में कहा गया है। मतलब प्रधानमंत्री कहते हैं कि बड़े पैमाने पर रोजगार निर्माण किया गया और हो रहा है, जबकि सीएमआईई की रिपोर्ट कहती है कि रोजगार तो छोड़िए एक करोड़ 9 लाख मजदूरों के पास जो नौकरियां थीं उनकी भी नौकरियां खत्म हो गई।.

    दिसंबर माह में 39 करोड़ 70 लाख कामगारों का पंजीयन हुआ, जो पिछले वर्ष की तुलना में एक करोड़ 9 लाख से कम है। इसका अर्थ यह है कि साल भर में इतने लोगों को अपनी नौकरियां गंवानी पड़ी हैं और यही सच्चाई है। प्रधानमंत्री यदि 70 लाख रोजगार निर्माण करने का श्रेय ले रहे होंगे तो फिर उन्हें एक करोड़ 9 लाख लोगों की नौकरियां जाने की जिम्मेदारी भी लेनी होगी