राष्ट्रीय भारतीय जन जन पार्टी कार्यकर्ता सम्मेलन,100 प्रत्याशी के नाम जारी

    0
    5

    राष्ट्रीय भारतीय जन जन पार्टी कार्यकर्ता सम्मलेन अगले लोक सभा चुनाव में 100 से अधिक प्रत्याशी उतरने जा रही है ।

    वतन की आवाज गाजियाबाद पप्पु झा: आगामी लोक सभा चुनाव के मध्यनजर देश मे राजनीतिक सरगर्मी तेज हो चुकी है। इसके मध्य नजर आज गाजियाबाद कौशाम्बी मे राष्ट्रीय भारतीय जन जन पार्टी के कार्यकर्ता सम्मेलन हुआ। सम्मेलन का मुख्य उद्देश्य 2019 मे आने वाली लोक सभा के लिए भावी प्रत्याशियों के घोषणा और चयन करना था।

    जिला गौतम बुधनगर से पार्टी ने अधिवक्ता तथा नोएडा युनिवर्सिटी के प्रोफेसर बिनोद नागर जी को प्रत्याशी घोषित किया है। पार्टी ने देश के पन्द्रह राज्यों मे 100 से अधिक प्रत्याशी उतारने की घोषणा की है। जिसमे से आज कुछ प्रत्याशी के नामों की घोषणा किया गया।

    पार्टी के संस्थापक श्री महंत दिव्य योग माया सरस्वती जी ने कार्यकर्ता को संबोधित करते हुए कही की , हमारी पार्टी किसी जाति तथा धर्म विशेष की नही है। इस पार्टी मे सभी का स्वागत है। पार्टी किसानों तथा पीछड़े के मुद्दे पर चुनाव मे जा रही है। उन किसानों के हित की बात करेंगी जो आज तक बीजेपी और कांग्रेस के द्वारा ठगा गया है।

    श्री माया सरस्वती जी ने आरक्षण के मुद्दे पर भी कही की उनकी पार्टी किसी भी जाति विशेष आरक्षण के समर्थक नही है। पार्टी जाति विशेष नही आर्थिक विशेष आरक्षण चाहती है। उनकी पार्टी शिक्षा तथा स्वास्थ्य के क्षेत्र मे काम करना चाहती है। उनके लिए काम करना चाहती है जो गाँव मे रहते है और उनके पार शहर तक पहुँच कर स्वास्थ्य सेवा लेने मे सक्षम नही है।

    VIDEO के लिए Click करें https://www.youtube.com/watch?v=x5jFm6KIrjE&t=9s

    पार्टी कार्यकर्ता को संबोधित करते हुए नोएडा के प्रत्याशी बिनोद नागर जी ने कहा,” नोएडा तथा गाजियाबाद मे सबसे ज्यादा रिवेन्यु आता है । लेकिन कम्पनी गोरखपुर वाले को नौकरी पर रखती है और नोएडा तथा गाजियाबाद के नौजवानो को लोकल कहकर नौकरी नही देती है।” अगर उनकी पार्टी सता मे आती है तो ऐसा नही होने दिया जायेगा।

    आज के इस आयोजन मे पार्टी ने अपने कार्यकर्ताओ का सम्मान किया और प्रत्याशी के नामों की घोषणा भी किया गया। इस पार्टी से जुड़ने के लिए लोगों का आभार प्रकट किया और अधिक से अधिक लोगो जोड़ने के लिए कहा गया। पार्टी मे किसी भी प्रकार की ऊँच नीच की भावना नही रखने की बात भी किया गया।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here