बालों को झड़ने से रोकने की तरीका और उसका उपचार

3 weeks ago Vatan Ki Awaz 0

बालों को झड़ने से रोकने की तरीका और उसका उपचार

कनेर के पीले रंग के फूल आपको अपने घर के आस-पास मौजूद पार्क और सड़क के किनारे पर बहुत ही आसानी से देखने को मिल जाते है। इसे बनाने के लिए आपको

कनेर के पत्‍ते -60-70 ग्राम
नारियल या जैतून का तेल – एक लीटर

कनेर का तेल बनाने की विधी
बालों के झड़ने की समस्‍या होने पर कनेर के 60-70 ग्राम पत्ते लें।
इसके लिए आप लाल या पीली दोनों में से कोई भी या दोनों एक साथ भी ले सकते है।
इन पत्‍तों को सूखे कपड़े से साफ कर लें ताकी पत्‍तों पर से मिट्टी निकल जाये।
अब एक लीटर नारियल या जैतून के तेल लेकर उसमें पत्‍ते काटकर मिला लें।
फिर तेल को गर्म करने के लिए गैस पर रख दें।
जब सारे पत्ते जल कर काले पड़ जाएं तो उन्हें निकाल कर फेंक दें और तेल को ठंडा होने के लिए रख दें।
जब तेल ठंडा हो जाये तो छानकर किसी बोतल में भरकर रख दें।

इस्‍तेमाल का तरीका
इस तेल को थोड़ी मात्रा में लेकर 2 मिनट के लिए अपने बालों में मालिश करें।
इसे रात भर अपने बालों में लगा रहने दें।
सुबह अपने बालों को अच्‍छे से साफ कर लें।
इस उपाय से सिर्फ 10 दिन में बाल झड़ने बंद हो जाएंगे और एक महीन मे नए बाल आने शुरु हो जाएंगे।

क्यों झड़ते हैं बाल


महिलाओं में एंड्रोजेनेटिक एलोपेसिया को फीमेल पैटर्न बाल्डानेस के रूप में भी जाना जाता है और यह मेल पैटर्न बाल्डनेस की तरह ही सामान्य रूप से पाया जाता है। फीमेल पैटर्न बाल्डनेस बालों के गिरने की आनुवंशिक समस्या है, जिसमें पूरे सिर की त्वचा पर बाल क्रमिक रूप से विरल हो जाते हैं। जबकि पुरुषों में गंजेपन का कारण अक्सर आनुवांशिक होता है। साथ ही ज्यादातर लोगों में यह देखा गया है कि भारी तनाव के कारण उनके बाल झड़ते हैं। इसके अलावा नहाने के बाद लोग अक्सर अपने बालों को सुखाने के लिए हेयर ड्रायर की मदद लेते हैं। जो बालों के टूटने के लिए सबसे ज्यादा जिम्मेदार माना जाता है। लगातार अपने बालों को सीधा या घुंघरेला बनाने के लिए किए जाने वाले ट्रीटमेंट, जंक फूड का सेवन और खाने में पोषण की कमी भी इस समस्या के लिए जिम्मेदार हैं।

बालों के लिए घरेलू उपाय
बालों में ज्यादा कंघी करने से बचें। दिन में सिर्फ 2-3 बार ही आपको बालों में कंघी करनी चाहिए। इससे आपके बाल कम से कम उलझेंगे और टूटेंगे भी नहीं।
बालों को झड़ने से बचाने के लिए आपको अपने बालों को धूप से बचाना चाहिए। जब भी आप बाहर धूप में जाएं तो अपने साथ छाता या फिर सिर पर कपड़ा बांध लें।
बहुत गर्म पानी से बाल ना धोएं, इससे बालों की जड़े कमजोर होती हैं और बाल भी रफ होते हैं।
बालों पर कलर करने से भी बाल खराब हो जाते हैं और जल्दी टूटने भी लगते हैं। ऐसा करने से भी बचें।


बालों को टूटने से बचाने के लिए आपको डाइट में प्रोटीन, आयरन, जिंक, सल्फर, विटामिन सी, के अलावा विटामिन बी से युक्त खाघ पदार्थ भरपूर मात्रा में लेने चाहिए।

बालों को सही पोषण न मिलने से भी बाल झड़ने लगते हैं, ऐसे में बालों को झड़ने से बचाने के लिए समय-समय पर बालों में मेंहदी लगानी चाहिए या फिर बालों को पोषण देने के लिए दही भी लगा सकते हैं।
बालों को मजबूत बनाने और टूटने से बचाने के लिए आपको सप्ताह में कम से कम दो बार बालों की जड़ों में आंवला, बादाम, ऑलिव ऑयल, नारियल का तेल, सरसो का तेल इत्यादि में से कोई एक लगाना चाहिए। इससे बालों का झड़ना, बाल पतले होना, डैंड्रफ, दोमुंहे बाल व उम्र से पहले बालों का सफेद होने जैसी प्रॉब्लम्स से निपटा जा सकता है।

लड़कों के बाल झड़ने के कारणों में एक कारण हेलमेट भी है। यह बात हमेशा लोगों के बीच चर्चा का विषय बनी रही है कि, हेलमेट से बाल झड़ते हैं कि नहीं? साइंटिफिक रिसर्च के मुताबिक अभी तक ऐसे कोई परिणाम नहीं आये हैं जो ये साबित करे कि हेलमेट से बाल झड़ते हैं। लेकिन ये अनुमान हमेशा से लगाया गया है कि हेलमेट बाल झड़ने के कारणों में से एक है। हेलमेट के प्रति ये अनुमान पुरुषों के लिए काफी बड़ी चिंता का विषय बन गया है जिसे वे ना चाहते हुए भी अनदेखा नहीं कर पा रहे हैं, और अनदेखा करें भी तो कैसे? क्योंकि समय से पहले बाल झड़ने के कारण पुरुष उम्र से पहले बड़े दिखने लगते हैं।

Helmet
कारण जेनेटिकली भी
पहले यह माना जाता था कि लड़कों में बाल झड़ने का कारण जेनेटिकली है। अगर पिताजी गंजे हैं तो बेटे के भी बाल झड़ जाएंगे। ऐसे कई उदाहरण हैं भी जो ये प्रूफ करते हैं कि बाल झड़ने का एक कारण जेनेटिकली भी है। कारण जो भी हो, लेकिन ये एक चीज पुरुषों में उनके सेल्फ-कॉन्फीडेंस को कम करने का कारण जरूर बन गई है। इसलिए लोग खासकर लड़के हेलमेट के प्रति काफी सतर्क हो गए हैं। जबकि आज बाल कई कारणों से झड़ते हैं-

स्ट्रेस- बाल झड़ने के एक कारणों में तनाव सबसे ऊपर है। तनाव का सबसे पहले असर दिमाग पर पड़ता है जिससे बालों पर असर पड़ना लाजिमी है।
समय की कमी- आज हर किसी के पास समय की कमी है जिस कारण लोग अपने बालों और स्वास्थ्य पर सही वक्त नहीं दे पाते। वक्त न देने पाने के कारण स्वास्थ्य और बालों पर बूरा असर पड़ रहा है जिससे स्वास्थ्य और बाल दोनों गिर रहे हैं।
डैंड्रफ- विशेषज्ञों के अनुसार पुरुषों में महिलाओं की तुलना में अधिक डैंड्रफ होता है। ऐसा कुछ विशेष हारमोन के स्राव के कारण होता है।

हेलमेट और बाल झड़ना
ऐसे में इन समस्याओं से ग्रस्त पुरुषों का क्या हेलमेट पहनना सही है? इससे बाल झड़ने की समस्या और बढ़ नहीं जाती? अनुमान जो भी हो लेकिन ये बिल्कुल गलत है कि हेलमेट से बाल झड़ते हैं। हां, लेकिन अगर ऊपर लिखी समस्याओं में से कोई भी एक समस्या आपको है तो हेलमेट आपके बाल झड़ने की समस्या को बढ़ा जरूर देता है। तो अगर आप तनाव या डैंड्रफ की समस्या का सामना कर रहे हैं तो हेलमेट आपके बालों को और अधिक नुकसान पहुंचा सकता है।

हवा को रोकता है- आपके त्वचा की तरह आपके बाल भी सांस लेना चाहते हैं। ऐसे में आपके स्कैल्प को हेलमेट की वजह से खुली और ताजी हवा नहीं मिल पाती है। ऐसे में आपके बालों के स्कैल्प से निकला हुआ पसीना स्कैल्प को हानि पहुंचा देता है। जो बाल झड़ने का कारण बन जाता है।
डैंड्रफ- वे पुरुष जिनको डैंड्रफ की समस्या है अगर वो हेलमेट पहनते हैं तो इससे उनकी ये समस्या और अधिक बढ़ जाती है। हेलमेट के पहनने से आपके सर बिल्कुल एक ढ़के हुए गमले की तरह हो जाता है जो ड्राय और सेक्रैची स्कैल्प को और अधिक ड्राय और स्क्रैची बना देती है। ऐसे में स्कैल्प कमजोर हो जाते हैं और बाल झड़ने लगते हैं।