कोरोना की तीसरी लहर का खतरा! केंद्र ने कहा, ‘आगले मॉनसून में सभी स्वास्थ्य केंद्रों, ऑक्सीजन संयंत्रों को तैयार रखें’

Spread the love

केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने शुक्रवार को राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन तंत्र की समीक्षा की

केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने शुक्रवार को राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन तंत्र की समीक्षा की और संबंधित एजेंसियों को कोविड-19 महामारी के बीच आगामी मॉनसून सत्र में बेहतर तरीके से तैयार होने, सभी ऑक्सीजन संयंत्रों तथा स्वास्थ्य केंद्रों को भी व्यवस्थित रखने की सलाह दी. गृह मंत्रालय द्वारा जारी एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार भल्ला ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के आपदा प्रबंधन विभागों के सचिवों तथा राहत आयुक्तों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस से हुए सालाना सम्मेलन में यह बात कही.

बयान के अनुसार, ‘‘बैठक प्रमुख रूप से दक्षिण-पश्चिम मॉनसनू 2021 के दौरान संभावित प्राकृतिक आपदाओं से निपटने के लिए तैयारियों की समीक्षा करने के वास्ते आयोजित की गयी थी.’’ भल्ला ने उद्घाटन भाषण में साल भर 24 घंटे तैयारी रखने के लिहाज से क्षमता निर्माण करने की जरूरत पर जोर दिया.

बयान के अनुसार, ‘‘केंद्रीय गृह सचिव ने केंद्र और राज्य सरकारों के सभी संबंधित अधिकारियों को कोविड-19 महामारी के बीच बेहतर तरीके से तैयार रहने को कहा ताकि बाढ़, चक्रवात और भूकंप आदि जैसी प्राकृतिक आपदाओं से होने वाले नुकसान को कम से कम किया जा सके.

सम्मेलन में राष्ट्रीय सुदूर संवेदी केंद्र (एनआरएससी) द्वारा तैयार आपात प्रबंधन के लिए राष्ट्रीय डाटाबेस (एनडीईएम) के 4.0 संस्करण को जारी किया गया. बयान के अनुसार, ‘‘पूर्वानुमान एजेंसियों की उसी समय चेतावनियों तथा देश में आपदा जोखिम को कम करने के लिए जिला स्तर तक इन चेतावनियों का प्रसार आपदा प्रबंधन अधिकारियों तक करने में यह बहुत उपयोगी है.

%d bloggers like this: