बिहार का कोई नेता इस बार रेल मंत्री बन सकता है मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

बिहार का कोई नेता इस बार रेल मंत्री बन सकता है मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

नई दिल्ली: बिहार का कोई नेता इस बार रेल मंत्री बन सकता है. इन सब के बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से उनके आवास पर मुलाकात की. सूत्रों के अनुसार, जेडीयू को बिहार में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए रेलवे मंत्रालय का इनाम दिया जा सकता है. यह पद दो सांसदों आरसीपी सिंह और राजीव रंजन सिंह (ललन सिंह) में से किसी एक को मिल सकता है. अपने कोटे के 17 में से 16 सीट जीतने वाले जद-यू को राज्य के कोटे से एक और मंत्रालय मिल सकता है.

मोदी के शपथ ग्रहण समारोह से पहले कैबिनेट में शामिल होने वाले मंत्रियों पर माथापच्ची जारी है. पीयूष गोयल के वित्त मंत्री बनने के कयासों के बीच रेल मंत्रालय किसके खाते में जाएगा, यह बड़ा सवाल बन गया है.


सूत्रों के अनुसार, बिहार का कोई नेता इस बार रेल मंत्री बन सकता है. इन सब के बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से उनके आवास पर मुलाकात की. सूत्रों के अनुसार, जेडीयू को बिहार में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए रेलवे मंत्रालय का इनाम दिया जा सकता है. यह पद दो सांसदों आरसीपी सिंह और राजीव रंजन सिंह (ललन सिंह) में से किसी एक को मिल सकता है. अपने कोटे के 17 में से 16 सीट जीतने वाले जद-यू को राज्य के कोटे से एक और मंत्रालय मिल सकता है.

इन नेताओं के नाम पर चर्चा
राज्यसभा सदस्य और नीतीश कुमार के सहयोगी रामचंद्र प्रसाद सिंह को मोदी नीत सरकार में संभवत: रेल मंत्रालय मिल सकता है. वहीं नीतीश के एक अन्य सहयोगी और मुंगेर सीट से जीत दर्ज करने वाले राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह भी मंत्रिमंडल में शामिल किए जा सकते हैं.

वहीं राजग में शामिल तीसरी घटक दल लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) की तरफ से यह स्पष्ट है कि रामविलास पासवान फिर से मोदी मंत्रिमंडल 2.0 में वापसी करेंगे. कयास लगाए जा रहे हैं कि अगर जेडीयू के खाते में रेल मंत्रालय नहीं गया तो रामविलास पासवान नए रेल मंत्री बन सकते हैं. हालांकि आधिकारिक तौर पर इस बारे में कुछ नहीं कहा गया है.

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

%d bloggers like this: